Chale Jaise Hawayein K.K., Vasundhara Das, Main Hoon Na

  • Post comments:0 Comments

Title~ चले जैसे हवायें
Movie/Album~ मैं हूँ ना 2004
Music~ अनु मलिक
Lyrics~ जावेद अख्तर
Singer(s)~ के.के., वसुंधरा दास

चले जैसे हवाएँ सनन-सनन
उड़े जैसे परिंदे गगन-गगन
जायें तितलियाँ जैसे चमन-चमन
यूँ ही घूमूँ मैं भी मगन-मगन
हे हे हो हो…
मैं दीवानी, दिल की रानी, ग़म से अनजानी
कब डरती हूँ, वो करती हूँ, जो है ठानी
चले जैसे हवायें…

कोई रोके, कोई आये
जितना भी मुझको समझाये
मैं न सुनूँगी कभी
अपनी ही धुन में रहती हूँ
मैं पगली हूँ, मैं ज़िद्दी हूँ
कहते हैं ये तो सभी
कोई नहीं जाना के, अरमान क्या है मेरा
चले जैसे हवायें…

आये हसीनाएँ तो आये
मुझको दिखाने अपनी अदायें
मैं भी कुछ कम नहीं
आँखों में ऑंखें जो डालूँ
दिल मैं चुरा लूँ, होश चुरा लूँ
कोई हो कितना हसीं
मेरा हो गया वो, जो एक बार मुझसे मिला
चले जैसे हवाएँ सनन-सनन
उड़े जैसे परिंदे गगन-गगन
जायें भँवरे जैसे चमन-चमन
यूँ ही घूमूँ मैं भी मगन-मगन
हे हे हो हो…
मैं दीवाना, मैं अनजाना, ग़म से बेगाना
हूँ आवारा, लेकिन प्यारा, सबने माना
चले जैसे हवाएँ…

Leave a Reply