Daal Roti Khaao Lyrics

  • Post comments:0 Comments

Daal Roti Khaao Lyrics-Kishore Kumar, Lata Mangeshkar, Jwar Bhata

Title- दाल रोटी खाओ
Movie/Album- ज्वार भाटा Lyrics-1973
Music By- लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics- राजेंद्र कृष्ण
Singer(s)- किशोर कुमार, लता मंगेशकर

ये समझो और समझाओ, थोड़ी में मौज मनाओ
दाल-रोटी खाओ, प्रभु के गुण गाओ
अजी लालच में ना आओ, ना दिल का चैन गँवाओ
दाल-रोटी खाओ, प्रभु के गुण गाओ
ये समझो और…

तन पे लंगोटी, पेट में रोटी, सोने को एक खटिया
मतलब तो है नींद से, चाहे बढ़िया हो या घटिया
राधे-श्याम सीता-राम, राधे-श्याम सीता-राम
नफ़रत को दूर हटाओ और सबको गले लगाओ
दाल-रोटी खाओ…

चाँदी की थालीवाले को क्या भूख लगे हैं ज़्यादा
क्या भूख लगे हैं ज़्यादा
क्यों न खा लें फिर आपस में बाँट के आधा-आधा
बाँट के आधा-आधा
राधे-श्याम सीता-राम, राधे-श्याम सीता-राम
भूखे की भूख मिटाओ, दुनिया में नाम कमाओ
दाल-रोटी खाओ…

सब से सस्ती चीज़ है क्या
बोलो बोलो
चोरी, डाका, बेईमानी
तो फिर महँगी क्या होगी
सोचो सोचो
किसी की ख़ातिर क़ुर्बानी
छोटे को पास बिठाओ, भूले को राह दिखाओ
दाल-रोटी खाओ…

Leave a Reply