Dost Dost Na Raha Lyrics-Mukesh, Sangam

  • Post comments:0 Comments

Title : दोस्त, दोस्त ना रहा Lyrics
Movie/Album : संगम Lyrics-1964
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics : शैलेन्द्र सिंह
Singer(s): मुकेश

दोस्त, दोस्त ना रहा
प्यार, प्यार ना रहा
ज़िन्दगी हमें तेरा ऐतबार ना रहा
दोस्त, दोस्त ना रहा…

अमानतें मैं प्यार की, गया था जिसको सौंप कर
वो मेरे दोस्त तुम ही थे, तुम्हीं तो थे
जो ज़िन्दगी की राह मे, बने थे मेरे हमसफ़र
वो मेरे दोस्त तुम ही थे, तुम्हीं तो थे
सारे भेद खुल गए, राज़दार ना रहा
ज़िन्दगी हमें तेरा…

गले लगीं सहम सहम, भरे गले से बोलतीं
वो तुम ना थीं तो कौन था, तुम्हीं तो थीं
सफ़र के वक्त में पलक पे मोतियों को तोलती
वो तुम ना थी तो कौन था, तुम्हीं तो थीं
नशे की रात ढल गयी, अब खुमार ना रहा
ज़िन्दगी हमें तेरा…

वफ़ा का ले के नाम जो, धड़क रहे थे हर घड़ी
वो मेरे नेक नेक दिल, तुम्हीं तो हो
जो मुस्कुराते रह गए, जहर की जब सुई गड़ी
वो मेरे नेक नेक दिल, तुम्हीं तो हो
अब किसी का मेरे दिल, इंतज़ार ना रहा
ज़िन्दगी हमें तेरा…

Leave a Reply