Kaho Ji Tum Kya Kharidoge Lyrics

  • Post comments:0 Comments

Kaho Ji Tum Kya Kharidoge Lyrics -Lata Mangeshkar, Sadhna-कहो जी तुम क्या खरीदोगे

Movie/Album: साधना (1958)
Music By: दत्ता नायक
Lyrics By: साहिर लुधयानवी
Performed By: लता मंगेशकर

सुनो जी, तुम क्या-क्या खरीदोगे
यहाँ तो हर चीज़ बिकती है
कहो जी, तुम क्या-क्या खरीदोगे
सुनो जी, तुम क्या-क्या खरीदोगे
लालाजी तुम क्या-क्या
मियाँ जी तुम क्या-क्या
बाबू जी, तुम क्या-क्या खरीदोगे
सुनो जी, तुम क्या-क्या खरीदोगे
कहो जी तुम…

ये बलखाती हुई ज़ुल्फ़ें, ये लहराते हुए बाज़ू
ये होंठो की जवाँ मस्ती, ये आँखों का हसीं जादू
अदाओं के खज़ाने, जवानी के तराने
बहारों के ज़माने
कहो जी तुम क्या-क्या खरीदोगे…

तड़पती शोखियाँ दे दूँ, मचलता बाँकपन दे दूँ
अगर तुम एक कली माँगो, तो मैं सारा चमन दे दूँ
ये मस्ती के घेरे, ये महके अँधेरे
ये रंगीन डेरे
कहो जी तुम क्या-क्या खरीदोगे…

मोहब्बत बेचती हूँ मैं, शराफत बेचती हूँ मैं
ना हो ग़ैरत तो ले जाओ, के ग़ैरत बेचती हूँ मैं
निगाहें तो मिलाओ, अदाएँ न दिखाओ
यहाँ न शर्माओ
कहो जी तुम क्या-क्या खरीदोगे…

Leave a Reply