Kay Sera Sera Kavita, Shankar, Pukar

  • Post comments:0 Comments

Title~ के सरा सरा Lyrics
Movie/Album~ पुकार 2000
Music~ ए.आर.रहमान
Lyrics~ जावेद अख्तर
Singer(s)~ कविता कृष्णमूर्ति, शंकर महादेवन

गुड इवनिंग लेडीज़ एंड जेंटलमेन
नौजवानों, बात मानो
कभी किसी से, न प्यार करना

हे, के सरा सरा सरा, जो भी हो सो हो
हमें प्यार का हो आसरा, फिर चाहे जो हो

प्यार ज़िन्दगी, प्यार हर ख़ुशी
प्यार जिसने पाया है
वो ही दिल फूल जैसा खिला
प्यार गलती है, प्यार धोखा है
प्यार ढलती छाया है
देखो फिर न करना गिला
प्यार ही धड़कनों की कहानी है
प्यार है हसीं दास्ताँ
प्यार अश्कों की देता निशानी है
प्यार में है चैन कहाँ
प्यार की बात जिसने ना मानी है
उसकी ना तो ज़मीं है, ना है आसमां
नौजवानों, बात मानो…

ओ, प्यार जैसे है पूरब पच्छिम
प्यार है उत्तर दक्खिन
यहाँ है प्यार ही हर दिशा
प्यार रोग है, प्यार दर्द है
प्यार तोड़े दिल इक दिन
यही है प्यार का सिलसिला
प्यार से ही तो रंगीन जीवन
प्यार से ही दिल है जवाँ
प्यार काँटों का जैसे कोई बन है
प्यार से ही ग़म का समां
प्यार से जाने क्यों तुमको उलझन है
प्यार तो सारी दुनिया पे है मेहरबां
नौजवानों…
हे के सरा सरा सरा…

Leave a Reply