Kya Jaanoon Sajan Lyrics-Lata Mangeshkar, Baharon Ke Sapne

  • Post comments:0 Comments

Title : क्या जानूँ सजन Lyrics
Movie/Album/Film: बहारों के सपने Lyrics-1967
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics : मजरूह सुल्तानपुरी
Singer(s): लता मंगेशकर

क्या जानूँ सजन, होती है क्या गम की शाम
जल उठे सौ दिए, जब लिया तेरा नाम
क्या जानूँ सजन…

काँटों में मैं खड़ी, नैनों के द्वार पे
नित दिन बहार के, देखूँ सपने
चेहरे की धूल क्या चंदा की चांदनी
उतरी तो रह गयी, मुख पे अपनी
क्या जानूँ सजन…

जब से मिली नज़र, माथे पे बन गए
बिंदिया नयन तेरे, देखो सजना
भर ली जो प्यार से मेरी कलाईयाँ
पिया तेरी उंगलियाँ हो गयी कंगना
क्या जानूँ सजन..

Leave a Reply