Lakdi Ki Kaathi Lyrics-Gauri, Gurpreet, Vanita, Masoom

  • Post comments:0 Comments

Title – लकड़ी की काठी Lyrics
Movie/Album- मासूम -1983
Music By- आर.डी.बर्मन
Lyrics- गुलज़ार
Singer(s)- गौरी बापट, गुरप्रीत कौर, वनिता मिश्रा

लकड़ी की काठी, काठी पे घोड़ा
घोडे की दुम पे जो मारा हथौड़ा
दौड़ा दौड़ा दौड़ा घोड़ा दुम उठा के दौड़ा

घोड़ा पहुंचा चौक में
चौक में था नाई
घोड़े जी की नाई ने हजामत जो बनाई
टग-बग- 4

घोड़ा था घमंडी
पहुंचा सब्जी मंडी
सब्जी मंडी बरफ पड़ी थी
बरफ में लग गई ठंडी
टग-बग- 4

घोड़ा अपना तगड़ा है
देखो कितनी चर्बी है
चलता है महरौली में
पर घोड़ा अपना अरबी है
टग-बग- 4

Leave a Reply