Man Tadpat Hari Darshan Lyrics

  • Post comments:0 Comments

Man Tadpat Hari Darshan Lyrics-Md.Rafi, Baiju Bawra

Title : मन तड़पत हरि दर्शन
Movie/Album- बैजू बावरा -1952
Music By- नौशाद अली
Lyrics By- शकील बदायुनी
Singer(s)- मो.रफ़ी

मन तड़पत हरि दर्शन को आज
मोरे तुम बिन बिगड़े सकल काज
विनती करत हूँ रखियो लाज

तुम्हरे द्वार का मैं हूँ जोगी
हमरी ओर नज़र कब होगी
सुन मोरे व्याकुल मन का बात
तड़पत हरी…

बिन गुरू ज्ञान कहाँ से पाऊँ
दीजो दान हरी गुन गाऊँ
सब गुनी जन पे तुम्हारा राज
तड़पत हरी…

मुरली मनोहर आस न तोड़ो
दुख भंजन मोरा साथ न छोड़ो
मोहे दरसन भिक्षा दे दो आज, दे दो आज

Leave a Reply