Na Koi Umang Hai Lyrics-Lata Mangeshkar, Kati Patang

  • Post comments:0 Comments

Title- न कोई उमंग है
Movie/Album- कटी पतंग Lyrics-1970
Music By- आर.डी.बर्मन
Lyrics- आनंद बक्षी
Singer(s)- लता मंगेशकर

न कोई उमंग है, न कोई तरंग है
मेरी ज़िंदगी है क्या, इक कटी पतंग है
न कोई उमंग है…

आकाश से गिरी मैं, इक बार कट के ऐसे
दुनिया ने फिर न पूछा, लूटा है मुझको कैसे
न किसी का साथ है, न किसी का संग है
मेरी ज़िन्दगी है क्या…

लग के गले से अपने, बाबुल के मैं न रोई
डोली उठी यूँ जैसे, अर्थी उठी हो कोई
यही दुःख तो आज भी मेरा अंग संग है
मेरी ज़िन्दगी है क्या…

सपनों के देवता क्या, तुझको करूँ मैं अर्पण
पतझड़ की मैं हूँ छाया, मैं आँसुओं का दर्पण
यही मेरा रूप है, यही मेरा रँग है
मेरी ज़िन्दगी है क्या…

Leave a Reply