O Mere Majhi Lyrics-S.D.Burman, Bandini

  • Post comments:0 Comments

Title : ओ मेरे माँझी Lyrics
Movie/Album/Film: बंदिनी Lyrics-1963
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics : शैलेन्द्र
Singer(s): एस.डी.बर्मन

ओ रे माँझी
ओ रे माँझी
ओ मेरे माँझी
मेरे साजन हैं उस पार
मैं मन मार, हूँ इस पार
ओ मेरे माँझी अब की बार
ले चल पार, ले चल पार
मेरे साजन हैं उस पार..

मन की किताब से तुम
मेरा नाम ही मिटा देना
गुण तो न था कोई भी
अवगुण मेरे भुला देना
मुझे आज की विदा का
मर के भी रहता इंतज़ार
मेरे साजन हैं उस पार..

मत खेल जल जाएगी
कहती है आग मेरे मन की
मैं बंदिनी पिया की
मैं संगिनी हूँ साजन की
मेरा खींचती है आँचल
मनमीत तेरी, हर पुकार
मेरे साजन..
ओ रे माँझी…

Leave a Reply