Saara Jahaan Chhod Ke Lyrics-Md.Rafi, Usha Mangeshkar, Wardat

  • Post comments:0 Comments

Title – सारा जहां छोड़ के Lyrics
Movie/Album- वारदात Lyrics-1981
Music By- बप्पी लाहिड़ी
Lyrics- रमेश पंत
Singer(s)- मोहम्मद रफी, ऊषा मंगेशकर

सारा जहां छोड़ के तुझे मैंने सलाम किया है
तूने भी क्या कोई ऐसा काम किया है
मैंने तो खुद अपना जीना हराम किया है
जिस दिन से हाथ तेरा थाम लिया है
सारा जहां छोड़ के…

तू चाहे प्यार ना कर, मैं तो तुझे ही चाहूँगी
जहाँ भी तू जाएगा पीछे-पीछे आऊँगी
मुझको पाना है तो मेरा पीछा छोड़ दे
सारा जहाँ छोड़ के…

मेरी तो आदत है, इसे उसे दिल देने की
और कोई मेरी बनी, तो फिर तू क्या कर लेगी
जोगन बन के गली-गली में गाना गाऊँगी
मैंने तो खुद अपना जीना…

सारा जहाँ छोड़ के तुझे मैंने सलाम किया है
तूने भी क्या कोई ऐसा काम किया है
ओ थाम लिया है, ओ काम किया है

Leave a Reply