Sapno Ka Shehar Ho Alka Yagnik, Sehar

  • Post comments:0 Comments

Title ~ सपनों का शहर हो Lyrics
Movie/ Album: सहर 2005
Music~ डैनियल बी. जॉर्ज
Lyrics~ स्वानंद किरकिरे, नीलांजना किशोर
Singer(s)~ अलका याग्निक

सपनों का शहर हो
खुशियों भरा सफ़र हो
कोई डर ना हो
कब आएगी सहर वो

कैसे कटेगी ग़म की काली लंबी रात
बुझे नहीं मन में जलती आशा की वो बात
सपनों का शहर हो…

थकी -थकी आँखों का रुपहला ये ख़्वाब
ख़त्म तो होगी कभी इनकी तलाश
सपनों का शहर हो…

Leave a Reply