Suhani Chandni Raatein Lyrics-Mukesh, Mukti

  • Post comments:0 Comments

Title- सुहानी चांदनी रातें
Movie/Album- मुक्ति Lyrics-1977
Music By- आर.डी.बर्मन
Lyrics- आनंद बक्षी
Singer(s)- मुकेश

सुहानी चांदनी रातें
हमें सोने नहीं देती
तुम्हारे प्यार की बातें
हमें सोने नहीं देती

तुम्हारी रेशमी ज़ुल्फ़ों में
दिल के फूल खिलते थे
कहीं फूलों के मौसम में
कभी हम तुम भी मिलते थे
पुरानी वो मुलाकातें
हमें सोने नहीं देती
तुम्हारे प्यार…

कहीं ऐसा ना हो लग जाए
दिल में आग पानी से
बदल लें रास्ता अपना
घटाएँ मेहरबानी से
के यादों की ये बरसातें
हमें सोने नहीं देती
तुम्हारे प्यार…

Leave a Reply