Zindagi Jab Bhi Teri Bazm Lyrics-Talat Aziz, Umrao Jaan

  • Post comments:0 Comments

Title – ज़िन्दगी जब भी तेरी बज़्म Lyrics
Movie/Album- उमराव जान Lyrics-1981
Music By- खैय्याम
Lyrics- शहरयार
Singer(s)- तलत अज़ीज़

ज़िन्दगी जब भी तेरी बज़्म में लाती है हमें
ये ज़मीं चाँद से बेहतर नज़र आती है हमें

सुर्ख फूलों से महक उठती हैं दिल की राहें
दिन ढले यूँ तेरी आवाज़ बुलाती है हमें
ज़िन्दगी जब भी तेरी…

याद तेरी कभी दस्तक, कभी सरगोशी से
रात के पिछले पहर रोज़ जगाती है हमें
ज़िन्दगी जब भी तेरी…

हर मुलाक़ात का अंजाम जुदाई क्यूँ है
अब तो हर वक़्त यही बात सताती है हमें
ज़िन्दगी जब भी तेरी…

Leave a Reply