Zubaan Pe Dard Bhari Lyrics-Mukesh, Maryada

  • Post comments:0 Comments

Title- जुबां पे दर्द भरी
Movie/Album- मर्यादा Lyrics-1971
Music By- कल्याणजी आनंदजी
Lyrics- आनंद बक्षी
Singer(s)- मुकेश

ज़ुबां पे दर्द भरी दासतां चली आई
बहार आने से पहले खिज़ा चली आई

खुशी की चाह में मैंने उठाये रंज बड़े
मेरा नसीब के मेरे कदम जहाँ भी पड़े
ये बदनसीबी मेरी भी वहाँ चली आई
ज़ुबां पे दर्द भरी…

उदास रात है, वीरान दिल की महफ़िल है
ना हमसफ़र है कोई, और ना कोई मंज़िल है
ये ज़िन्दगी मुझे लेकर कहाँ चली आई
ज़ुबां पे दर्द भरी…

Leave a Reply