Kabir Das ji ke Dohe, kaha chunave bhediya

  • Post comments:0 Comments

कहा चुनावै भेड़िया, चूना माटी लाय |
मीच सुनेगी पापिनी, दौरी के लेगी आप ||

व्याख्या:

चूना मिट्ठी मँगवाकर कहाँ मंदिर चुनवा रहा है ? पापिनी मृत्यु सुनेगी, तो आकर धर – दबोचेगी |

Leave a Reply