इस कविता को सुनाते हुए आक्रोशित हो गए Vineet Chauhan l Latest Kavi Sammelan l Veer Ras

  • Post comments:0 Comments



इस कविता को सुनाते हुए आक्रोशित हो गए Vineet Chauhan l Latest Kavi Sammelan l Veer Ras

देशप्रेम की कोई सीमा नहीं होती, इसे किसी आंकड़े या पैमाने में मापा नहीं जा सकता, ये तो एक भावना है जिसे केवल जीया जा सकता है और देश के विरुद्ध जब कुछ स्वर बुलंद होने लगें तो ये कविता की देशभक्ति ही है, जो उन राष्ट्रविरोधी स्वरों के सम्मुख चट्टान बनकर अड़ जाती है, कुछ पंक्तियाँ आपसे साझा कर रहा हूँ, सुनें और प्रतिक्रिया अवश्य दें II

# LatestKaviSammelan #VineetChauhan #VeerRas

Like Share & Comment

Subscribe Kavi Vineet Chauhan Official Channel
Managed By- Digital Khidki

Like * Comment * Share – Don’t forget to LIKE the video and write your COMMENT’s

If You Like The Video Don’t Forget To Share With Others & Also Share Your Views.

Subscribe Now : https://goo.gl/5qV9pL
इस कविता को सुनाते हुए आक्रोशित हो गए Vineet Chauhan l Latest Kavi Sammelan l Veer Ras
#इस #कवत #क #सनत #हए #आकरशत #ह #गए #Vineet #Chauhan #Latest #Kavi #Sammelan #Veer #Ras
इस कविता को सुनाते हुए आक्रोशित हो गए Vineet Chauhan l Latest Kavi Sammelan l Veer Ras
#इस #कवत #क #सनत #हए #आकरशत #ह #गए #Vineet #Chauhan #Latest #Kavi #Sammelan #Veer #Ras

visit youtube channel

Leave a Reply