मां पर लिखी Shailesh Lodha की यह कविता आंखों में आंसू छलका देगी | Sahitya Tak

  • Post comments:0 Comments



#ShaileshLodha #ShaileshLodhalatest #ShaileshLodhapoetry #ShaileshLodhapoem #ShaileshLodhaonmma #ShaileshLodhahindi #ShaileshLodhasahityaaajtak #poemonmaa #maakavita #ShaileshLodhalatestvideo #ShaileshLodhainterview #ChitraTripathi #MaaPoem #SahityaAajTak19

मशहूर टीवी कलाकार, लेखक और कवि शैलेश लोढ़ा ने साहित्य आजतक 2019 के मंच पर मां पर एक बेहद मार्मिक कविता सुनाई. उन्होंने जब मां नहीं होती तो क्या होता है, इस प्रसंग को कविता के माध्यम से व्यक्त किया. उन्होंने अपने अभिव्यक्ति में कहा कि जब मां होती है तब उसके होने का अहसास नहीं होता. उसके नहीं रहने पर हर पल हम उसे अपने पास ढूंढते हैं. हर तरक्की आज मुझे छूकर जाती है, पर मां आज तेरी बहुत याद आती है…शैलेश की कविता को सुनकर दर्शकों की आंखें नम हो गयीं. साहित्य तक पर सुनें यह कविता.
……………………….

About the Channel

Sahitya Tak आपके पास शब्दों की दुनिया की हर धड़कन के साथ I शब्द जब बनता है साहित्य I वाक्य करते हैं सरगोशियां I जब बन जाती हैं किताबें, रच जाती हैं कविताएं, कहानियां, व्यंग्य, निबंध, लेख, किस्से व उपन्यास I Sahitya Tak अपने दर्शकों के लिये लेकर आ रहा साहित्य के क्षेत्र की हर हलचल I सूरदास, कबीर, तुलसी, भारतेंदु, प्रेमचंद, प्रसाद, निराला, दिनकर, महादेवी से लेकर आज तक सृजित हर उस शब्द की खबर, हर उस सृजन का लेखा, जिससे बन रहा हमारा साहित्य, गढ़ा जा रहा इतिहास, बन रहा हमारा वर्तमान व समाज I साहित्य, सृजन, शब्द, साहित्यकार व साहित्यिक हलचलों से लबरेज दिलचस्प चैनल Sahitya Tak. तुरंत सब्स्क्राइब करें व सुनें दादी मां के किस्से कहानियां ही नहीं, आज के किस्सागो की कहानियां, कविताएं, शेरो-शायरी, ग़ज़ल, कव्वाली, और भी बहुत कुछ I

Sahitya Tak – Welcome to the rich world of Hindi Literature. From books to stories to poetry, essays, novels and more, Sahitya Tak is a melting pot where you will keep abreast of what’s the latest in the field of literature. We also delve into our history and culture as we explore literary gems of yesteryears from Surdas, Kabir, Tulsi, Bhartendu, Premchand, Prasad, Nirala, Dinkar, Mahadevi, etc. To know more about how literature shapes our society and reflects our culture subscribe to Sahitya Tak for enriching stories, poems, shayari, ghazals, kawali and much more. Subscribe Sahitya Tak now.

Follow us on Facebook:
https://www.facebook.com/sahityatakoffical/
मां पर लिखी Shailesh Lodha की यह कविता आंखों में आंसू छलका देगी | Sahitya Tak
#म #पर #लख #Shailesh #Lodha #क #यह #कवत #आख #म #आस #छलक #दग #Sahitya #Tak
मां पर लिखी Shailesh Lodha की यह कविता आंखों में आंसू छलका देगी | Sahitya Tak
#म #पर #लख #Shailesh #Lodha #क #यह #कवत #आख #म #आस #छलक #दग #Sahitya #Tak

visit youtube channel

Leave a Reply