जीवन के पथ में पथिक | मिथिलेश 'मैकश' | भोजपुरी कविता आ शायरी | आखर | दूसरकी कविता

  • Post comments:0 Comments



मिथिलेश ‘मैकश’ जी बहुत दिन से कविता लिखतानीं, देखते-देखत में २० लाईन के कविता लिखल इहां खाती ढेर तूल के काम ना ह।
#जवन #क #पथ #म #पथक #मथलश #39मकश39 #भजपर #कवत #आ #शयर #आखर #दसरक #कवत

Leave a Reply